Wednesday, December 17, 2014

लहू में भीगा अखबार

(नई दुनिया - १६ दिसंबर २०१४ )


सुबह -  सुबह
लहू में भीगा अखबार 
शब्दों में कैद आर्तनाद 
चीख-पुकार 
सिसकियों के साथ 
मानवता का हाहाकार 
बढ़ रही 
दिन प्रति दिन क्रूरता 
निर्दोषों के प्रति अत्याचार 

हर दिन नए सिरे से 
नृशंशता, बर्बरता, अमानवीय व्यवहार 
हम जहाँ भी हों 
हो रहे हैं, एक व्यापक त्रासदी के शिकार 

कब तक चलेगा ये आत्मघाती तांडव ?
क्यूँ है ये विध्वंस बढ़ाता विप्लव ?

क्या सुरक्षा होगी 
जब एक हाथ से दूसरा हाथ काटा जाए ?
कैसे बचेगा कोई 
जब अमृत के नाम जहर बांटा जाए ?

हम क्या पहुँच रहे हैं अंतिम छोर पर ?
कितना भरोसा रहे सुरक्षा की डोर पर ?


कैसे सुरक्षित होकर रहे धरती माँ का हर लाल 

कैसे बदले मासूमों को भूनती यह जघन्य ताल ?

------------------

दर्द, प्रार्थना, सहानुभूति, संवेदना के साथ
अशोक व्यास
१६ दिसम्बर २०१४

पेशावर: आर्मी स्कूल पर आतंकी हमला, 84 बच्चों समेत 104 लोग मरे

Tue, 16 Dec 2014 16:14:27 | World Hindi News
- See more at: http://rajasthanpatrika.patrika.com/news/taliban-gunmen-attack-military-run-school-in-peshawar/1209272.html#sthash.I1zcK2hf.dpuf

No comments:

आनंदित निर्झर

छम छम बरसे प्रेमामृत सा खिला करूण अलोक अपरिमित मौन मधुर झीना झीना सा सरस सूक्ष्म  आनंदित निर्झर तन्मय बेसुध  लीन....  ...